Home Local News रानी बाग मार्किट की सुरक्षा भगवान भरोसे, सीसीटीवी कैमरे खराब, आपातकालीन निकास...

रानी बाग मार्किट की सुरक्षा भगवान भरोसे, सीसीटीवी कैमरे खराब, आपातकालीन निकास की नहीं व्यवस्था

276
0
SHARE
संवाददाता.
नई दिल्ली. 01 फरवरी. राजधानी के मुख्य बाजारों में से एक रानी बाग का मुख्य बाजार बद्हाल सुरक्षा व्यवस्था के चलते बेहद असुरक्षित हो चला है. सैंकड़ों दुकानों की इस मार्किट की सुरक्षा के लिए लगाए गए तमाम सीसीटीवी कैमरे बीते दो साल से खराब पड़े हैं, जिसके चलते समय-समय पर आपराधिक तत्व आपराधिक वारदातों को अंजाम देकर चलते बनते हैं और व्यापारी वारदात के बाद ठगा सा रह जाता है. बीते मंगलवार को भी एक प्रॉपर्टी कंसलटेंट के आॅफिस पर फायरिंग की घटना ने पूरे मार्किट को दहलाकर रख दिया था, लेकिन खराब सीसीटीवी कैमरों के चलते अपराधियों की कोई पहचान नहीं हो पाई. मार्किट के ट्रेडर हरीश नागपाल बताते हैं, कि मार्किट में सीसीटीवी कैमरे दिल्ली पुलिस के द्वारा लगाए गए हैं,
Businessman Harish Nagpal, Ashok ahuja
जो पिछले 2 वर्षों से खराब पड़े हैं. कई बार इन बंद पड़े कैमरों की शिकायत क्षेत्र के एसीपी और एस.एच.ओ तक से कर चुके हैं, लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला. यह भी पढ़ें : ‘मेट्स’ में पूर्व छात्र मिलन समारोह का आयोजन  यही नहीं बाजार में आपातकालीन स्थिति में दमकल और एंबुलेंस के लिए भी कोई निकासी का रास्ता नहीं है. ट्रेडर टोनी वसीम बताते हैं, कि बाजार में आपातकालीन निकासी का कोई सीधा रास्ता नहीं बचा है. किसी आपातकालीन परिस्थिति में भी वाहन को आधा किलोमीटर दूर से यू टर्न लेकर आना पड़ता है, इसका कारण यह है, कि बाजार के सामने मुख्य सड़क पर ग्रिल लगा दी गई है. हालांकि यहां पर पहले रेड लाईट थी, लेकिन इसे भी हटा दिया गया, जिसके चलते कोई भी फायर ब्रिगेड या एंबुलेंस आपातकालीन परिस्थिति में सीधे बाजार में प्रवेश नहीं कर सकती. मार्किट एसोसिएशन के पदाधिकारी अशोक आहूजा बताते हैं, क्षेत्रीय विधायक सत्येंद्र जैन के पास शिकायत कर रखी है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. खबर से संबंधित वीडियो देखने के लिए क्लिक करें  हमेशा डर लगा रहता है, कि कहीं कोई अप्रिय घटना घट गई तो नतीजा ना जाने क्या होगा? गौरतलब है, कि रानी बाग का मुख्य बाजार स्थानीय लोगों के लिए मुख्य आकर्षण का केंद्र रहा है और हमेशा यहां भीड़भाड़ बनी रहती है. लेकिन एक बार बम ब्लास्ट का शिकार हो चुकी इस मार्किट की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर जो कोताही बरती जा रही है, वह किसी अप्रिय घटना को दावत देने जैसे लगती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here