Home State News 25 हस्तियों को अटल सम्मान, पुस्तक ‘स्मृतियां अटल हैं’ का भी लोकार्पण

25 हस्तियों को अटल सम्मान, पुस्तक ‘स्मृतियां अटल हैं’ का भी लोकार्पण

114
0
SHARE
संवाददाता.
नई दिल्ली. 27 दिसंबर. संसद भवन के मुख्य समिति सभागार में आयोजित अटल सम्मान समारोह में देश की प्रमुख 25 हस्तियों को अटल सम्मान से सम्मानित किया गया. अटल सम्मान समारोह ट्रस्ट के सहयोग से वैभव वेलफेयर सोसायटी द्वारा आयोजित इस पांचवे सम्मान समारोह में विभिन्न कैटेगिरी में देश के प्रतिष्ठित महानुभावों को उनके श्रेष्ठ योगदान हेतु दिया गया, ताकि लाखों लोगों तक अटल जी की विचारधारा को सरलता से पहुंचाया जा सके. इस वर्ष जिन 25 व्यक्तियों का चयन अवार्ड के लिए किया गया, उनमें राष्ट्र की रक्षा के क्षेत्र में मेजर जनरल एस.पी. सिन्हा को अटल शौर्य शिखर सम्मान से नवाजा गया. भारतीय साहित्य के क्षेत्र में श्रीधर पराड़कर को अटल साहित्य शिखर सम्मान दिया गया. नृत्य के क्षेत्र में कत्थक नृतक जितेन्द्र जी महाराज को अटल नृत्य निष्णात शिखर सम्मान, धर्म के क्षेत्र में नवल किशोर महाराज को अटल विश्व विभूति शिखर सम्मान, गायन के लिए ध्रुपद गायक पद्मश्री फैयाज वसीफुद्दीन डागर को अटल स्वर साधक शिखर सम्मान, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र के अध्यक्ष रामबहादुर राय को अटल शिखर सम्मान, संस्कृति मंत्रालय दिल्ली पब्लिक लाईब्रेरी के चेयरमैन रामशरण गौड़ को अटल कला कीर्ति सम्मान, चिकित्सकीय सर्जरी के क्षेत्र में डॉ. राकेश कुमार वर्मा को अटल आरोग्य शिखर सम्मान, समाजसेवा के क्षेत्र में श्रीमती प्रियंका वर्मा एवं एस.एस.कारगवाल को संयुक्त रूप से अटल समाज संवर्धन शिखर सम्मान सहित अन्य क्षेत्रों की प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया. यह भी पढ़ें : बाढ़ की बर्बादी के बाद गैर सरकारी संगठन सिद्धि ने केरल में हरित क्रिसमस का आयोजन किया सभी चयनित अवॉर्डियों को भारतीय वैदिक संस्कृति के अनुसार विशेष रूप से शंखनाद व मंत्रोच्चार करते हुए सम्मानित किया गया. इस अवसर पर अटल जी के जीवन पर आधारित एक वृतचित्र का प्रसारण भी किया गया और अटलजी के जीवन से जुड़े संस्मरणों पर आधारित महत्वपूर्ण पुस्तक ‘स्मृतियां अटल हैं’ का लोकार्पण किया गया. इस पुस्तक का संपादन अटल सम्मान समारोह के संयोजक व संस्था के अध्यक्ष भुवनेश सिंघल ने किया है. इस अवसर पर भुवनेश सिंघल ने कहा कि वह अटल से अनेक वर्षों से प्रभावित हैं और उनके जन्मदिन पर पिछले पांच वर्षों से यह आयोजन कर रहे हैं.
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू ने अपने संबोधन में कहा कि अटल जी का व्यक्तित्व विशाल था, उनके बारे में जितना कहा जाये उतना ही कम है. उन्होंने कहा कि भुवनेश ने ‘स्मृतियां अटल हैं’ में संस्मरणों को संग्रहित किया है, वह अदभुत है. जाजू ने कहा कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपाध्यक्ष अमित शाह और गवर्नर, मुख्यमंत्रियों, केन्द्रीय मंत्रियों, साहित्यकारों व अटल जी के पुराने साथियों के संस्मरणों को जुटाकर पुस्तक तैयार करना कोई सरल काम नहीं है. इसमें अटल जी के प्रति इनका समर्पण और कार्य के प्रति लग्न दिखाई देती है.
अटल जी की सरकार में केन्द्रीय मंत्री रहे राज्यसभा सांसद पद्मश्री सी. पी. ठाकुर ने कहा कि अटल जी पर किया जाने वाला यह आयोजन देश की प्रतिभाओं को सम्मानित करने का महत्वपूर्ण अवसर बन चुका है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here