Home Astro ऐसे मनाएं धनतेरस…

ऐसे मनाएं धनतेरस…

113
0
SHARE
धनतेरस अर्थात कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी का दिन आयुर्वेद के देवता धन्वंतरि के नाम पर विशेष माना गया है. ऐसा माना जाता है, कि आयुर्वेद (जिसे हमारी भारतीय संस्कृति में व्यक्ति की समस्त भौतिक चीजों से जोड़ा जाता है) ये जितना भौतिकवादी है, उतना ही आध्यात्मिक भी है. आयुर्वेद के माध्यम से व्यक्ति को न केवल अच्छा स्वास्थ्य, बल्कि लंबी आयु, धन, नाम, प्रसिद्धि, सुख-समृद्धि, पैतृक संपत्ति आदि समस्त जरूरतों का लाभ प्राप्त हो सकता है. हिन्दू पुराणों के अनुसार धन्वंतरि का जन्म समुद्र मंथन के दौरान अमृत कलश के साथ हुआ था, इसलिए इस दिन धनतेरस की पूजा जप व उपायो में अमृत सिद्धि का फल प्राप्त होता है. तो आइए जानते हैं, कि ऐसा क्या करें, ताकि लोगों के घर सुख, समृद्धि, यश व वैभव मिल सके.

* सबसे पहले इस दिन घर के कोनों व सम्पूर्ण जगहों को साफ जरूर करना चाहिए. इससे माँ लक्ष्मी प्रसन्न होती है.
* धनतेरस के दिन साल का वह दिन है, जिसमें यमराज का आह्वान किया जाता है. यदि आज के दिन शाम के समय यम का चौमुखी दीपक जलाया जाए तो यम देवता प्रसन्न होकर घर के सभी सदस्यों को स्वस्थ व लंबी आयु प्रदान करते हैं.
* आज के दिन किसी भी धातु (क्षमतानुसार) सोने या चांदी के बर्तन या लक्ष्मी गणेश का स्वरूप धातु में अंकित किया हुआ खरीदना चाहिए. ऐसा करने से घर में स्थिर लक्ष्मी रहती है व भाग्य में वृद्धि होती है.
* यदि घर में अष्टलक्ष्मी का वास रहे, तो इस दिन श्रीयंत्र खरीदना चाहिए और लक्ष्मी स्थल पर इस दिन इसकी पूजा करके केसरिया कपड़े में रखकर तिजोरी में रखना चाहिए.  ये भी पढ़ें : इस दीपावली इन वास्तु नियमों को अपनाएं, जीवन में भर जायेगी खुशहाली
* आज के दिन 7 मुखी रुद्राक्ष खरीदकर अवश्य रखना चाहिए. ऐसा करना अत्यंत शुभ व माँ लक्ष्मी के साथ महादेव की भी कृपा बरसती है और दरिद्रता खत्म होती है.
* ऐसी भी प्रचलित प्रथा है, कि इस दिन नमक की थैली जरूर खरीदें और दीवाली वाले दिन इसका इस्तेमाल करने से साल भर धन अभाव नहीं होता तथा सुख-समृद्धि बनी रहती है. यदि इसी नमक से घर में पोंछा लगाया जाए तो सभी नकारात्मक ऊर्जा का नाश और सारे अनिष्ट टल जाते हैं.
* इस दिन झाड़ू खरीदना विशेष रूप से लक्ष्मी को प्रसन्नता देता है. और इससे दरिद्रता का नाश हो जाता है.
* यदि घर में शंख नहीं है, तो इस दिन शंख खरीदकर यदि दीपावली वाले दिन घर का मुखिया इसको बजाता है तो घर के सभी सदस्यों के कार्यों में प्रगति रहती है और नाम रोशन होता है.
* एक अच्छा उपाय लक्ष्मीजी के आगमन व घर में बरकत के लिए धनतेरस के दिन साबुत धनिया खरीदकर इसके बाद दीवाली वाले दिन दीपावली पूजन में इसको रखें. पूजा के बाद साबुत धनिये को आंगन में घर के गमलों में बुरक दें.
* इस दिन कुबेर मूर्ति खरीदकर इनका पूजा के बाद यदि धन स्थान में रखा जाए तो व्यापार में समृद्धि आती है.
इन कुछ विशेष उपायों से आप अपने घर में सुख-समृद्धि की प्राप्ति कर सकते हंै, यदि ऊपर बताये गए यंत्र व रुद्राक्ष सिद्धकारी हों, तो इनके फल में कई गुना की वृद्धि हो जाती है.
ये सभी सिद्धकारी यंत्र व रुद्राक्ष आप हमारे यहाँ ज्योतिष घराना से खरीद सकते हैं.
कुछ महत्वपूर्ण शुभ समय जिसमें आप अपने ये सभी उपाय कर सकते हैं
12:06 से 13:03, 16:49 से 17:46, 18:49 से 19:43
(वाचस्पति आचार्य निधि)
9350043407,8882226777

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here