Home State News धरने के नाम पर राजनिवास में अराजकता फैला रहे हैं मुख्यमंत्री- अतुल...

धरने के नाम पर राजनिवास में अराजकता फैला रहे हैं मुख्यमंत्री- अतुल मुखी

45
0
SHARE
Atul Mukhi, File Photo
संवाददाता.
नई दिल्ली. 14 जून. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल वक्त-वक्त पर देश की जनता के सामने अपनी अराजकता का परिचय देते रहे हैं. कभी संसद के समक्ष कार में बैठकर धरना देना, तो कभी आधी रात को अपने ही मुख्यसचिव को पार्टी विधायकों से पिटवाना. अब तो उन्होंने सारी संवैधानिक मर्यादाओं को ताक पर रखकर दिल्ली के उपराज्यपाल के घर में ही अराजकता फैला दी है. उक्त उद्गार व्यक्त करते हुए युवा भाजपा नेता अतुल मुखी ने मुख्यमंत्री केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा है, कि शायद यह देश में पहला मामला होगा, जब एक मुख्यमंत्री अपने ही राज्य के राजभवन में बेशर्मी से सो रहा हो. मुखी ने कहा कि संवैधानिक पद पर बैठे मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों में इतनी भी गरिमा नहीं बची कि किसी के घर में मेज या सोफे पर पैर रखकर नहीं बैठा जाता.
युवा भाजपा नेता ने कहा कि टीम केजरीवाल की इसी अराजकता के चलते शायद दिल्ली के अधिकारी लगातार सचिवालय में हर रोज रामधुन गाकर मुख्यमंत्री और यह भी पढ़ें : रानी खेड़ा वार्ड में मोबाइल लाइब्रेरी की शुरूआत, हर शनिवार को निशुल्क पुस्तकें उपलब्ध होंगी उनके मंत्रियों को सद्बुध्दि देने के लिए प्रार्थना करते हैं. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल को सोचना चाहिए कि क्यों आज दिल्ली के अधिकारी उनसे डरे सहमे हैं? क्यों अधिकारी अपने को सुरक्षित नहीं पाते? क्यों अधिकारी किसी भी मंत्री या विधायक से सीधे बात करने से कतराते हैं? अतुल मुखी ने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल बार-बार हर बात के लिए उपराज्यपाल को जिम्मेदार ठहराते हैं, मगर कभी अपने गिरेबान में झांककर नहीं देखते कि आखिर ऐसी नौबत क्यों आई है? उन्होंने कहा कि आज दिल्ली की जनता स्वास्थ्य, बिजली, पानी, राशन, शिक्षा और यातायात की सुविधाओं को लेकर त्राहि-त्राहि कर रही है, मगर केजरीवाल को धरने प्रदर्शनों से फुरसत नहीं है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here