Home Business चीन के खिलाफ देश भर में व्यापारियों का रोष प्रदर्शन, चीनी सामान...

चीन के खिलाफ देश भर में व्यापारियों का रोष प्रदर्शन, चीनी सामान की होली जलाई

83
0
SHARE
संवाददाता.
नई दिल्ली. 24 मार्च. हाल ही में चीन द्वारा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में चौथी बार मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने पर वीटो का उपयोग करने और एक लम्बे अर्से से पाकिस्तान की मदद करने पर चीन के प्रति गुस्सा प्रकट करने के लिए व्यापारियों ने चीनी वस्तुओं की होली जलाई. दिल्ली सहित देश भर के विभिन्न राज्यों में व्यापारी संगठनों ने 1500 से अधिक स्थानों पर चीनी वस्तुओं की होली जलाते हुए चीनी सामान के बहिष्कार का संकल्प लिया. इस अवसर पर व्यापारिक संगठन कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था के चौकीदार हैं. और इस दृष्टि से अब भारत में चीन के व्यापार को और अधिक पनपने नहीं दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि जो भी देश भारत की सुरक्षा के खिलाफ खड़ा होगा, व्यापारी उसका बहिष्कार करेंगे. यह भी पढ़ें : भगवान बाल्मीकि के ऐतिहासिक धर्म स्थलों का दर्शन कराएगा टीवी सीरियल ‘बाल्मीकि धर्म यात्रा’ देश भर में व्यापारियों ने बेहद उत्साह और जबरदस्त रोष के साथ चीनी सामान की होली जलाते हुए चीन को कड़ा सन्देश दिया. राजधानी दिल्ली के व्यस्ततम बाजार और चीनी सामान के हब के रूप में जाने वाले सदर बाजार के बारा टूटी चौक पर दिल्ली के विभिन्न भागों के हजारों व्यापारियों, लघु उद्यमियों, हॉकर्स, उपभोक्ताओं आदि ने चीन के बने सामान का एक टीला बनाकर उसकी होली जलाई. इस दौरान व्यापारियों ने नारे लगाते हुए चीन को चेतावनी दी कि वह आतंकी गतिविधियों में पाक की मदद करना बंद करे, नहीं तो चीन के लिए विश्व के सबसे बड़े बाजार भारत से उसको खदेड़ देंगे. इस अवसर पर कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी.भरतिया और महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि चीन से ज्यादातर सामान में खिलौने, त्यौहारी वस्तुएं, इलेक्ट्रॉनिक्स, मोबाइल, हार्डवेयर, कुछ वस्तुओं का रॉ मटेरियल, बिजली का सामान, दैनिक उपयोग की वस्तुएं आदि ज्यादातर आयात होती हैं, जिनमें बहुत अधिक तकनीक नहीं होती है. सस्ता होने के कारण उपभोक्ता चीन का माल खरीदता है. यदि देश के घरेलू व्यापार को थोड़ा बढ़ावा दिया जाए तो हम चीन से अच्छा माल कम दाम पर बना सकते हैं. दोनों व्यापारी नेताओं ने कहा कि सरकार इसके लिए एक पैकेज की घोषणा करे, ताकि देश के व्यापारी और उद्यमी चीनी माल का मुकाबला कर सकें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here