Home National शाह बोले विधायकों को कैद ना करती कांग्रेस तो हमारी सरकार बनती,...

शाह बोले विधायकों को कैद ना करती कांग्रेस तो हमारी सरकार बनती, पूछा किस बात का जश्न मना रही है कांग्रेस

149
0
SHARE
Amit Shah, BJP President
संदीप त्यागी.
नई दिल्ली. 21 मई. कर्नाटक में जेडीएस और कांग्रेस की सरकार बनने से पहले भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर करारा हमला बोला है. शाह ने कहा कि अगर कांग्रेस और जेडीएस ने अपने विधायकों को कैद में ना रखा होता तो इन विधायकों को क्षेत्र की जनता ही बता देती कि उन्हें किसके साथ जाना चाहिए. शाह ने कहा कि अगर विधायक कैद ना किये होते हमारी सरकार बनती. उन्होंने कहा कि कर्नाटक में हमने बेहतरीन प्रदर्शन किया और 40 सीटों से बढ़कर भारतीय जनता पार्टी 104 सीटों तक पहुंच गई. भाजपाध्यक्ष ने कहा कि कर्नाटक का जनादेश कांग्रेस के खिलाफ था. उन्होंने कहा कि कर्नाटक में बीते 5 साल में दलितों, महिलाओं और किसान उत्पीड़न की घटनाओं के खिलाफ यह जनादेश था. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी द्वारा कर्नाटक में सरकार बनाए जाने के निर्णय का बचाव करते हुए कहा कि हम विधानसभा में सबसे बड़ा दल हैं और कर्नाटक की जनता के प्रति हमारी जिम्मेदारी थी, जिसे पूरा करने की हमने कोशिश की. ऐसे में सवाल खड़ा करना गलत है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और जेडीएस की सरकार की कवायद के बीच कर्नाटक की जनता नहीं बल्कि जेडीएस और कांग्रेस जश्न मना रहे हैं. यह भी पढ़ें : भारत तिब्बत सहयोग मंच की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में बोले इंद्रेश कुमार, सामाजिक-आर्थिक बहिष्कार से मिलेगी चीनी आतंक से मुक्ति  शाह ने कहा कि कांग्रेस की गलत नीतियों ने ना सिर्फ कर्नाटक को बर्बाद किया बल्कि उन्होंने चुनाव के दौरान भी हर तरीके से राज्य को बांटने का काम किया. शाह ने कहा कि कांग्रेस के मुख्यमंत्री के 1 सीट से खुद हार जाने तथा आधे से ज्यादा मंत्रियों के हार जाने के बावजूद कांग्रेस अपनी जीत का दावा कर रही है. देश में भाजपा के विरोध में माहौल बनने तथा विरोधियों के इकट्ठा होने के सवाल पर भाजपाध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस देश भर में हमारी 9 लोकसभा सीटों पर हार का प्रोपेगैंडा बना रही है, लेकिन वह यह नहीं बताती कि इन नौ सीटों के बदले हमने उनसे 14 राज्य छीने हैं. उन्होंने कहा कि कर्नाटक में बहुमत के खिलाफ जाकर कांग्रेस ने जेडीएस का समर्थन किया है, लेकिन यह अवसरवादी तालमेल है और बहुत लंबे समय तक नहीं टिकेगा. शाह ने कांग्रेस पर तंज करते हुए कहा कि इस चुनाव के बाद लोकतंत्र में एक अच्छी बात भी हुई है कि कांग्रेस का तमाम संवैधानिक संस्थाओं में दोबारा विश्वास हो गया है. उन्हें अब ईवीएम, सुप्रीम कोर्ट से कोई परेशानी नहीं है. शाह ने कहा कि वह उम्मीद करते हैं, कि किसी चुनाव में हार के बाद अब वह इन संस्थाओं पर कोई सवाल नहीं उठायेंगे.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here