Home Local News पुरानी गलतियों से सबक लेगी कांग्रेस, नाराज कार्यकर्ताओं को करेंगे एकजुट

पुरानी गलतियों से सबक लेगी कांग्रेस, नाराज कार्यकर्ताओं को करेंगे एकजुट

405
0
SHARE
Yogesh Jain with Ex MP Mahabal Mishra
प्रवीण श्रीवास्तव.
नई दिल्ली. 20 फरवरी. राजधानी दिल्ली की राजनीति में बीते चार वर्षों में लगभग हाशिए पर जा चुकी कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन का असर संगठन पर भी पड़ रहा है. लेकिन ‘आप’ पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होने के बाद कांग्रेस एक बार फिर जोश से भर उठी है. पार्टी के तमाम नये-पुराने नेता 20 सीटों पर होने वाले उपचुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं. हालांकि पार्टी अब दिल्ली में अपने संगठन को मजबूत करने के लिए किस रणनीति के तहत काम करेगी और मौजूदा सरकारों के कामकाज को वह किस हद तक सफल मानती है, ऐसे ही तमाम मुद्दों पर पत्रकार प्रवीण श्रीवास्तव ने तिलकनगर जिला कांग्रेस कमेटी के महासचिव योगेश जेन से बात की.
Yogesh Jain with Delhi President Ajay Maken
बीते 22 वर्षों से संगठन से जुड़े रहे योगेश जैन पार्टी में विभिन्न पदों पर अपनी सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं.
निराशाजनक प्रदर्शन का कारण कार्यकर्त्ताओं की उपेक्षा
बीते वर्षों में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन की वजह कार्यकर्ताओं की उपेक्षा और नाराज कार्यकर्ताओं पर ध्यान नहीं देना रहा. ब्लॉक, जिला स्तर पर कार्यकर्ताओं से कोई तालमेल नहीं रहा, जिसका नतीजा चुनाव में पार्टी को भुगतना पड़ा. यह भी पढ़ें : केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों का घर-घर जाकर विरोध करेंगे कार्यकर्त्ता  लेकिन अब पार्टी सभी कार्यकर्ताओं से बातचीत के जरिए ही आगे बढ़ रही है, जिसका असर भी दिखना शुरू हो गया है. अगर आज 20 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो जाए तो पार्टी 12 से 14 सीटें हासिल कर लेगी. योगेश जैन के मुताबिक पार्टी की चुनावी हार की दूसरी वजह पार्टी द्वारा अपने कराये गये विकास कार्यों का प्रचार-प्रसार जनता तक नहीं पहुंचाना रहा. केवल पोस्टरों, बैनरों के माध्यम से विकास कार्यों को जनता तक पहुंचाने का माध्यम मानकर अपने कर्तव्य की इतिश्री कर ली गई, जबकि आज वक्त बदल चुका है. प्रचार के नए-नए माध्यम बन चुके हैं, उन सभी मंचों पर भी पार्टी की सशक्त उपस्थिति दर्ज कराने की जरूरत है, जिसे पार्टी ने देरी से समझा है. हालांकि कांग्रेस के मौजूदा घटनाक्रम से जैन खुश हैं, वह कहते हैं, कि अब शीला दीक्षित और अजय माकन के बीच की तनातनी समाप्त हो चुकी है, साथ ही पार्टी एक और वरिष्ठ नेता अरविंदर सिंह लवली की भी फिर से कांग्रेस में वापसी पार्टी को आगामी चुनाव के लिए मजबूत करेगी. दिल्ली सरकार और नगर निगम के कार्यों पर सवाल उठाते हुए योगेश जैन ने कहा कि दिल्ली सरकार और भाजपानीत नगर निगम की विफलता राजधानी में किसी से छुपी नहीं है. इन दोनों सरकारों के हवाई वायदों से राजधानी की जनता ऊब चुकी है और वापस कांग्रेस की ओर आशा भरी नजरों से देख रही है.
जैन ने राजधानी में सीलिंग से परेशान व्यापारियों के मसले पर कहा कि नगर निगम ने कन्वर्जन चार्ज के नाम पर करोड़ों रुपए व्यापारियों से ले लिए और व्यापारियों को अधर में छोड़ दिया. जिसका खामियाजा आज राजधानी के व्यापारी अपना व्यापार गंवाकर भुगत रहे हैं.
योगेश ने कहा कि पार्टी अपने कराये गये विकास कार्यों को लेकर जनता की अदालत में जायेगी और वह उम्मीद करते हैं, कि कांग्रेस के समय में हुए विकास कार्यों को याद रखते हुए जनता उनका समर्थन करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here