Home Local News त्रिनगर और रामपुरा में सीलिंग के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, भाजपा और...

त्रिनगर और रामपुरा में सीलिंग के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, भाजपा और ‘आप’ को बताया दोषी

178
0
SHARE
संवाददाता.
नई दिल्ली. 12 अगस्त. राजधानी दिल्ली में सीलिंग का असर बड़े उद्योगों के साथ लघु और कुटीर उद्योगों पर भी देखा जा रहा है. जहां सैकड़ों व्यापारी आए दिन सीलिंग के खिलाफ विरोध जता रहे हैं. राजधानी में चल रही इस सीलिंग के विरोध में विपक्षी पार्टियां विरोध प्रदर्शन कर रही हैं. सीलिंग के खिलाफ धरने-प्रदर्शन की कड़ी में कांग्रेस पार्टी ने त्रिनगर और रामपुरा में हो रही सीलिंग के खिलाफ अपना विरोध जताते हुए प्रदर्शन किया. त्रिनगर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पवन कुमार के नेतृत्व में आयोजित इस विरोध प्रदर्शन में सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ता व स्थानीय व्यापारियों ने सीलिंग का विरोध किया. इस अवसर पर प्रदर्शन में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चतर सिंह, जिलाध्यक्ष हरि किशन जिंदल, रोशन लाल गर्ग, दीपक जग्गी, मास्टर रतिराम, सुंदर खारी और जिया लाल गुप्ता समेत अन्य पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे. प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए चतर सिंह ने दिल्ली सरकार और नगर निगम पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि दिल्ली में छोटे उद्योग जो कि ना तो प्रदूषण फैलाते हैं, और ना ही किसी प्रकार से नुकसान पहुंचाते हैं उनको सील किया जा रहा है. यह भी पढ़ें : हरियाणा मैत्री भवन में हरियाली तीज महोत्सव का आयोजन चतरसिंह ने कहा कि व्यापारियों के साथ हो रही तमाम ज्यादितयों के बावजूद भाजपा की निगम सरकार और ‘आप’ पार्टी की दिल्ली सरकार हाथ पर हाथ रख कर बैठी हुई हैं. चतर सिंह ने कहा कि निगम और दिल्ली सरकार सर्वोच्च न्यायालय के आदेश की आड़ में उन लघु व कुटीर उद्योगों को भी बंद कर रही है, जिनको मास्टर प्लान के तहत रिहायशी व ग्रामीण क्षेत्रों में चलाने की इजाजत दी गई थी. इसके साथ ही दिल्ली में उद्योग धंधे बर्बाद हो रहे हैं और व्यापारियों के साथ लाखों मजदूर भी बेरोजगार हो रहे हैं. कांग्रेस नेता ने ‘आप’ व भाजपा पर सीलिंग का स्थाई हल ना निकालने का आरोप लगाते हुए कहा कि दोनों सरकारों ने सर्वोच्च न्यायालय में व्यापारियों के हित सही ढंग से नहीं रखे, जिसका परिणाम व्यापारी सीलिंग के रूप में भुगत रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here