Home Uncategorized मेट्स के वार्षिकोत्सव में बोले डॉ. सुब्रह्मण्यम स्वामी, जोखिम लेकर ही...

मेट्स के वार्षिकोत्सव में बोले डॉ. सुब्रह्मण्यम स्वामी, जोखिम लेकर ही विकास के रास्ते पर बढ़ सकते हैं युवा

158
0
SHARE
संवाददाता.
नई दिल्ली. 10 फरवरी. उल्लास के रंग में रंगे महाराजा अग्रसेन परिसर में आज चारों ओर उत्सव के रंग बिखरे हुए थे. मौका था मेट्स के वार्षिकोत्सव का. महाराजा अग्रसेन टेक्निकल एजुकेशन सोसायटी द्वारा संचालित महाराजा अग्रसेन इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नोलॉजी और मैनेजमेंट स्टडीज के वार्षिकोत्सव में मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद राज्यसभा सांसद डॉ. सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि युवाओं में जोखिम लेने की इच्छाशक्ति होनी चाहिये, यहीं से विकास का रास्ता खुलता है.
उन्होंने कहा कि हमें अपने इतिहास और संस्कृति की सही जानकारी होनी जरूरी है, तभी हम अंग्रेजों द्वारा भारतीयों में पैदा की गई हीन भावना से उबरकर, देश को दुनिया का नंबर एक देश बना पाएंगे.
कार्यक्रम की शुरूआत डॉ. सुब्रह्मण्यम स्वामी के स्वागत एवं दीप प्रज्जवलन से हुई. इस अवसर पर मुख्य अतिथि का स्वागत करते हुए संस्थान के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. नन्दकिशोर गर्ग ने डॉ. स्वामी को आधुनिक चाणक्य संबोधित करते हुए कहा कि चन्द्रगुप्त तो पैदा होते रहेंगे यदि हमारे बीच चाणक्य हों. उन्होंने मेधावी छात्रों को बधाई देते हुए कहा कि राष्ट्र और समाज के निर्माण के लिए शिक्षित के साथ संस्कारी युवाओं की जरूरत है. और महाराजा अग्रसेन संस्थान से ऐसे हजारों छात्र देश और समाज के लिए कार्य कर रहे हैं.
संस्थान के अध्यक्ष प्रेमसागर गोयल ने छात्रों के उज्जवल भविष्य की कामना की. इस अवसर पर महाराजा अग्रसेन इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नोलॉजी के महानिदेशक प्रो. एम. के. गोयल और महाराजा अग्रसेन इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट स्टडीज के निदेशक प्रो. एम. के. भट्ट ने अपने-अपने संस्थानों की वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की. यह भी पढ़ें : पूर्व स्टैंडिग कमेटी चेयरमैन जगदीश ममगांई ने जन सुनवाई समिति के सामने मास्टर प्लान 2021 में संशोधन हेतु सुझाव दिए  समारोह के दौरान मेधावी छात्रों को सम्मानित भी किया गया, जिसमें इंजीनयरिंग की छात्रा वसुधा पारीक को सर्वश्रेष्ठ शैक्षिक प्रदर्शन के लिए पचास हजार रूपये का वंदना गोयल मेमोरियल अवार्ड दिया गया. जबकि मैनेजमेंट के चैतन्य कपिला को स्टूडेंट आॅफ द ईयर अवार्ड से सम्मानित किया गया. इसके अलावा जर्नलिज्म और मास कम्युनिकेशन के प्रतिभाशाली विद्यार्थियों श्रुति नीरज, ध्रुव बनियाल और वैभव को भी मंच पर सम्मानित किया गया. उल्लेखनीय है, कि दोनों संस्थानों के छात्र देश और दुनिया की श्रेष्ठ कंपनियों और भारतीय सेनाओं में अपना योगदान दे रहे हैं, वहीं अनेक छात्र अपने निजी व्यवसाय शुरू कर जॉब प्रोवाइडर की भूमिका में हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here