Home Local News छह महीने से गंदा पानी पीने को मजबूर लोग, विधायक हरियाणा के...

छह महीने से गंदा पानी पीने को मजबूर लोग, विधायक हरियाणा के सिर फोड़ रहे ठीकरा

163
0
SHARE
संवाददाता.
नई दिल्ली. 22 फरवरी. राजधानी में सस्ती बिजली और फ्री पानी को अपनी उपलब्धियों में शुमार करने वाली आम आदमी पार्टी के शासन में लोग गंदा पानी पीने को मजबूर हैं और जनप्रतिनिधि इसके लिए हरियाणा को दोषी ठहराकर अपने कर्तव्य की इतिश्री करे ले रहे हैं. राजधानी की मादीपुर विधानसभा में क्षेत्रवासी बीते छह महीने से गंदा और बदबूदार पानी पीने को मजबूर हैं. बीते छह 6 महीने से इलाके में गंदा व बदबूदार पानी आ रहा है, जिसकी बार-बार शिकायत करने के बाद भी कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है. अब इस गंदे पानी की वजह से लोग बीमार पड़ रहे हैं, खासतौर पर बच्चे जलजनित रोगों का शिकार हो रहे हैं. क्षेत्रीय निवासियों के मुताबिक जब लोग गंदे पानी की शिकायत लेकर विधायक गिरीश सोनी के दफ्तर पहुंचे तो वहां मौजूद ‘आप’ कार्यकर्ताओं ने इन लोगों को विधायक से मिलने नहीं दिया और लड़ाई पर उतारू हो गए. स्थानीय लोगों की शिकायत है कि एक ओर आम आदमी पार्टी सरकार जहां मूलभूत सुविधाओं को लेकर बेहतर काम करने का वायदा दोहरा रही है, यह भी पढ़ें : राजधानी में भाजपा कार्यकर्ताओं का ‘आप’ विधायकों के खिलाफ प्रदर्शन  वहीं दूसरी ओर उसी पार्टी का एक विधायक क्षेत्रवासियों की समस्या सुनने तक को तैयार नहीं है. ऐसे में लोग अपनी शिकायत लेकर किसके पास जाएं? जब इस बारे में हमने विधायक गिरीश सोनी से बात की तो उन्होंने कहा कि हरियाणा से छोड़े जा रहे पानी में ज्यादा अमोनिया की मात्रा को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि इस समस्या का उनके पास कोई समाधान नहीं है. हालांकि दिलचस्प यह भी है, कि हरियाणा से पानी में अमोनिया बढ़ने की शिकायत बीते एक से डेढ़ महीने की है, जबकि मादीपुर विधानसभा में लोग बीते छह महीने से गंदे पानी की आपूर्ति से परेशान हैं. वहीं दूसरी ओर मोतीनगर विधानसभा क्षेत्र में स्थानीय भाजपा कार्यकर्त्ताआें द्वारा गंदे पानी की आपूर्ति को लेकर स्थानीय विधायक शिवचरण गोयल के आॅफिस पर विरोध प्रदर्शन किया. विधायक शिवचरण गोयल ने इस प्रदर्शन को ओछी राजनीति करार देते हुए कहा कि हरियाणा से आ रहे गंदे पानी की समस्या के समाधान की जगह भाजपा पानी के मुद्दे पर राजनीति कर रही है, जो दुर्भाग्यपूर्ण है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here