Home Business घरेलू उत्पादकों की मदद के लिए काली मिर्च पर लगाया न्यूनतम आयात...

घरेलू उत्पादकों की मदद के लिए काली मिर्च पर लगाया न्यूनतम आयात मूल्य

56
0
SHARE
सांकेतिक चित्र
संवाददाता.
नई दिल्ली. 08 दिसंबर. केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने काली मिर्च के उत्पादकों के हितों की रक्षा के लिए काली मिर्च के न्यूनतम आयात मूल्य के रूप में प्रति किलो 500 रुपये के सीआईएफ मूल्य तय करने संबंधी मसाला बोर्ड के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है.
गौरतलब है, कि हाल के महीनों में अन्य देशों से काली मिर्च के सस्ते आयात के कारण काली मिर्च के घरेलू मूल्य में आई गिरावट काली मिर्च के उत्पादकों के बीच भारी चिंता का विषय रही है. पिछले एक साल में काली मिर्च के मूल्यों में लगभग 35 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है और इस वजह से काली मिर्च के उत्पादकों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. यह भी पढ़ें : इलेक्ट्रिक सर्किट की तरह वाटर सर्किट बनाना चाहती है सरकार  चूंकि ज्यादातर काली मिर्च उत्पादक देश आसियान क्षेत्र में अवस्थित हैं, इसलिए साफ्टा और आईएसएलएफटीए के तहत रियायती आयात शुल्क का लाभ उठाने के लिए इन देशों की काली मिर्च को श्रीलंका के जरिए भारत में लाए जाने की भी आशंकाए हैं. किसान संगठनों ने कठोर कदम उठाए जाने की मांग की है, जिसमें काली मिर्च का न्यूनतम आयात मूल्य तय करना भी शामिल है, ताकि अन्य देशों से भारत में काली मिर्च के सस्ते आयात पर लगाम लगाई जा सके.
न्यूनतम आयात मूल्य तय करने से खासकर ऐसे समय में घरेलू मूल्य को बेहतर करने में मदद मिलेगी जब काली मिर्च की फसल का कटाई सीजन काफी तेजी से निकट आता जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here