Home State News सस्ती दवाइयों पर जागरूकता के लिए 21 हजार किलोमीटर की यात्रा करेगा...

सस्ती दवाइयों पर जागरूकता के लिए 21 हजार किलोमीटर की यात्रा करेगा स्वस्थ भारत न्यास

71
0
SHARE
संवाददाता.
नई दिल्ली. 24 जनवरी. बीते 7 वर्षों से स्वास्थ्य एडवोकेसी के क्षेत्र में काम कर रहे स्वस्थ भारत ‘न्यास’ ने महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती वर्ष में उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित करने की अनूठी पहल की है. संस्था ने गांधीजी को याद करते हुए स्वस्थ भारत अभियान के अंतर्गत स्वस्थ भारत के तीनों आयामों जनऔषधि, पोषण और आयुष्मान विषय पर देश की जनता को जागरूक करने का मैराथन संकल्प लिया है. संस्था के चेयरमैन आशुतोष कुमार सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि गांधी शहीदी दिवस 30 जनवरी को साबरमती आश्रम, अहमदाबाद से यह यात्रा शुरू होगी, जिसे केन्द्रीय रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री रवाना करेंगे.
सिंह ने बताया कि हम लोग बीते 7 वर्षों से ‘स्वस्थ भारत अभियान’ के तहत स्वास्थ्य जागरुकता की दिशा में सक्रिय हैं. ‘कंट्रोल मेडीसिन मैक्सिमम रिटेल प्राइस’, ‘जेनरिक लाइए पैसा बचाइए’, ‘नो योर मेडीसिन’, ‘तुलसी लगाइए रोग भगाइए’, ‘नो योर डॉक्टर नो योर फार्मासिस्ट’ एवं ‘स्वस्थ बालिका स्वस्थ समाज’ सहित दर्जनों जागरुकता अभियानों के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य के प्रति सचेत एवं जागरूक करने का संस्था ने प्रयास किया है. यह भी पढ़ें : नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की जयंती पर महाराजा अग्रसेन परिसर में रक्तदान कुंभ, छात्रों ने किया रिकार्ड रक्तदान उन्होंने कहा कि हमने ‘स्वस्थ बालिका स्वस्थ समाज’ विषय को लेकर 2017 में देशव्यापी स्वस्थ भारत यात्रा की. इस दौरान लाखों बालिकाओं से प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष संवाद स्थापित कर बालिका स्वास्थ्य के मसले को एक दिशा एवं गति देने का सार्थक प्रयास किया है. इसी कड़ी में एक बार फिर से संस्था स्वस्थ भारत यात्रा-2 लेकर आ रही है. इस बार का ध्येय वाक्य है ‘स्वस्थ भारत के तीन आयाम जनऔषधि, पोषण और आयुष्मान’.
आशुतोष सिंह ने कहा कि भारत जैसे देश में जहां पर महंगी दवाइयों के कारण करोड़ों लोग गरीबी रेखा के नीचे चले जा रहे हैं, वहां पर सस्ती दवाइयों की उपलब्धता बहुत जरूरी है. इसी जरूरत को ध्यान में रखकर हमने इस यात्रा के ध्येय वाक्य में जनऔषधि शब्द को जोड़ा है. सबको समुचित पोषण मिले, यह बहुत जरूरी है. सिंह ने कहा कि पोषण को लेकर भी लोगों के मन में तमाम तरह की भ्रांतियां हैं. इन भ्रांतियों को दूर करना एवं स्वस्थ रहने के लिए स्वस्थ भोजन के तौर-तरीकों के बारे में लोगों को बताना हम जरूरी समझते हैं. इस पर सार्वजनिक मंचों पर चर्चा-परिचर्चा जरूरी हैं.
यात्रा के संरक्षक रामबहादुर राय ने अपने प्रेषित संदेश में कहा कि यह यात्रा भारत की सेहत के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है. उन्होंने देशवासियों से तन, मन एवं धन से इस यात्रा को सहयोग देने की अपील की. यात्रा की मार्गदर्शक डॉ. ममता ठाकुर ने पोषण को लेकर जागरूकता फैलाने पर जोर देते हुए कहा कि पोषक आहार लेने से हम कई बीमारियों से बच सकते हैं. वरिष्ठ न्यूरो सर्जन डॉ. मनीष कुमार ने अपनी शुभकामना प्रेषित करते हुए चिकित्सकों से इस यात्रा में जुड़ने की अपील की.
इस अवसर पर प्रख्यात गांधीवादी लेखक व यात्री दल सदस्य प्रसून लतांत ने कहा कि 2019 का यह वर्ष राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वीं जयंती वर्ष के कारण भी महत्वपूर्ण है. जिस तरह हमने भारत छोड़ो आंदोलन के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर अपनी पहली यात्रा की थी, ठीक उसी तरह महात्मा गांधी जी के 150वीं जयंती वर्ष को याद करते हुए यह यात्रा हम शुरू करने जा रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here