Home Astro कालसर्प दोष के भय को कैसे दूर करें? ये उपाय आयेंगे काम…

कालसर्प दोष के भय को कैसे दूर करें? ये उपाय आयेंगे काम…

89
0
SHARE
सांकेतिक चित्र
आज की परिस्थितियों में कालसर्प दोष को काफी भयानक माना जाता है. यह ऐसा योग है, जिससे परिचित होने के साथ ही कोई भी इंसान काफी भयभीत रहता है. लेकिन क्यों? मैं प्रत्येक व्यक्ति से यह पूछना चाहूंगी कि क्या आप सभी को अपने कर्मों में अविश्वास है?
मैं सभी को यही राय देती हूँ कि ऐसी सामान्य भ्रांतियों से दूर रहें. और कालसर्प दोष के पूर्ण योग की जानकारी किसी विद्वान ज्योतिषी से लेकर ही इस पर विचार करें. तो चलिए आज मैं आपको इस दोष की कुछ अन्य जानकारियों से अवगत कराती हूँ.

astrologer nidisha
* कालसर्प योग का दोष जातक के पूर्व जन्म के किसी जघन्य अपराध के दंड या शाप के फलस्वरूप उसकी कुंडली में परिलक्षित होता है.
* यह योग राहु-केतु के बीच सभी ग्रह ग्रस्त हो जाएं तब यह कालसर्प योग बन जाता है. यह सब मूल गणना के आधार पर कालसर्प दोष देखा जाता है.
* परंतु याद रहे यदि ऐसी गणना जिस किसी के भी जन्म कुंडली में होगी, उसको फल भी समान मिलेगा, ऐसा जरूरी नहीं होता.
* राहु-केतु जिस भाव में हैं, इससे ग्रसित ग्रह के बलावान या दुर्बल की गणना, शुभ-अशुभ की गणना, कौन सा ग्रह किस भाव में बैठा है, इन सब बातों पर विशेष ध्यान देकर ही सबका निर्णय करना चाहिए.
* साथ ही इसमें दशा को महत्वपूर्ण रखना चाहिए. क्या राहु-केतु की दशा चाहे वह अशुभ या शुभ का होना विशेषकारी हैं. मान लीजिए यदि व्यक्ति आपको अच्छे या बुरे मन से कुछ देना चाहता है, परंतु जब तक वह व्यक्ति आपके पास आपको वह वस्तु देने नहीं आएगा, तो आपको उसका प्रभाव कैसे प्राप्त होगा? ऐसे ही जब तक दशा, इस दोष से ग्रस्त की जन्मकुंडली में नहीं आएगी, तब तक आपको इस दोष के अच्छे या बुरे प्रभाव कैसे मिलेंगे? तो दशा का एक अपना विशेष प्रभाव है.
किन लक्षणों से पहचानें कालसर्प दोष
* जब जातक के व्यक्तित्व निर्माण में कठिन परिश्रम की आवश्यकता होती है, उसके विद्यार्जन व व्यवसाय के काम बहुत सामान्य ढंग से चलते हैं. इन क्षेत्रों में थोड़ा भी आगे बढ़ने के लिए जातक को कठिन संघर्ष करना पड़ता है. मानसिक पीड़ा उसे घर- गृहस्थी छोड़ने के लिए उकसाये और शारीरिक व आर्थिक रूप से व्याधियों का सामना करना पड़े. परंतु इन सब प्रतिकूलताओं के बावजूद चमत्कारिक ढंग से उसकी सभी बाधाएं बीच-बीच में दूर हो जाएं, तो यह सब अनंत कालसर्प योग का प्रभाव माना जाता है.
अनुकूल करने के लिए उपाय
* देवदार-सरसों तथा लोबान को उबालकर उस पानी से सवा महीना तक स्नान करें.
* यदि जातक को अपयश का भागी बनना पड़े. मित्रों द्वारा धोखा, संतान सुख में बाधा और व्यवसाय में संघर्ष कभी पीछा ना छोड़ता हो तो जातक के उत्साह एवं परिश्रम में निरंतर गिरावट आ जाती है. हाँ, उसका कठिन परिश्रमी स्वभाव उसको सफलता के शिखर तक पहुंचा देता है. परंतु इस सबको वह पूर्णतया सुखपूर्वक भोग नहीं पाता है. इस प्रभाव के कारण इसको कुलिक कालसर्प योग कहते हैं.
अनुकूल करने हेतु उपाय
* शुभ मुहूर्त में बहते पानी में कोयला तीन बार प्रवाहित करें.
* यदि जातक अपने भाई बहन से परेशान व अन्य पारिवारिक सदस्यों से खींचतान बनी रहती है. रिश्तेदार व मित्रगण उसे प्राय: धोखा देते रहते हैं. अधिक घर खर्च हो जाने के कारण अच्छी आर्थिक स्थिति भी असामान्य हो जाती है. लेकिन यह सब-कुछ होने के बाद भी जातक अपने जीवन में सफलता प्राप्त करता है. विलंब से उत्तम भाग्य का निर्माण भी होता है और शुभ कार्य हेतु उसे कई अवसर भी प्राप्त होते हैं. अत: धोखा, लड़ाई-झगड़े से निदान हेतु उसे नीचे दिया गया उपाय अवश्य करना चाहिए. ऐसे प्रभाव मिलने वाले दोष को वासुकी कालसर्प दोष कहते हैं.
अनुकूल करने हेतु उपाय
* प्रत्येक बुधवार को काले वस्त्रों में उड़द या मूंग, सब मुट्ठी में डालकर राहु का मंत्र जापकर भिक्षुक को दें. यदि भिक्षा लेने वाला ना मिले, तो इसे बहते पानी में प्रवाहित करें. 72 बुधवार तक करने से अवश्य लाभ मिलता है.
* यदि घर-बार में जमीन-जायजाद व चल-अचल संपत्ति संबंधी थोड़ी बहुत कठिनाईयां आती हैं और उसमें जातक को कभी-कभी बेवजह चिंता घेर लेती हो. विद्या प्राप्ति में आंशिक रूप से तकलीफ उठानी पड़ती हो, साथ ही सत्ता से कोई ना कोई आंशिक रूप से तकलीफ मिलती हो तथा एक साथ बहुत सारे काम करने से कोई भी काम पूरा नहीं हो पाता हो. यह योग शंखपाल के नाम से जाना जाता है. परंतु इसके चलते जातक को राजनीतिक क्षेत्र में सफलता प्राप्त होती है. यदि उपरोक्त परेशानी महसूस करते हैं तो नीचे लिखा हुआ उपाय अवश्य लाभ देगा.
अनुकूल करने हेतु उपाय
* सवा महीने तक जौं के दाने पक्षियों को खिलाएं और प्रत्येक शनिवार को चींटियों को शक्कर मिश्रित सत्तू उनके बिल पर डालें.
क्रमश: शेष अगले अंक में…
स्वभूति ज्योतिष घराना
(एस्ट्रोलॉजर निदिशा)
9350043407,8882226777

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here