Home Local News 1100 बेटियों के जन्म की खुशी में लाल किले पर ‘कुड़ियां दी...

1100 बेटियों के जन्म की खुशी में लाल किले पर ‘कुड़ियां दी लोहड़ी’ का आयोजन

339
0
SHARE
संवाददाता.
नई दिल्ली. 11 जनवरी. राजधानी दिल्ली की समाजसेवी संस्था ‘बेहतर’ द्वारा ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान एवं लड़कियों के सशक्तिकरण की दिशा में ‘कुड़ियां दी लोहड़ी’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया. रविवार 7 जनवरी को लाल किला मैदान के सामने आयोजित इस कार्यक्रम में सभी वर्गों के लोग बड़ी संख्या में शामिल हुए. 2018 में पैदा हुई 1100 बेटियों के जन्म की खुशी में ‘कुड़ियां दी लोहड़ी’ का आयोजन किया गया. इनमे ना केवल दिल्ली से, बल्कि कनाडा, यूएई से भी लोग शामिल हुए. सभी 1100 नवजात बच्चियों के परिवार वालों को लोहड़ी की बधाई के साथ उपहार भी दिए गए.
इस अवसर पर कार्यक्रम में मौजूद भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू ने बच्चियों को आशीर्वाद दिया और सभी परिजनों को लोहड़ी की बधाई देते हुए कहा कि बेटियों को भी समान सुविधाएँ और अधिकार मिलने चाहिएं तभी समाज की तरक्की संभव है. यह भी पढ़ें : श्री बालाजी सेवा संघ द्वारा स्वास्थ्य जांच शिविर 13 को, विवेकानंदपुरी के शिव मंदिर में होगा आयोजन जाजू ने संस्था ‘बेहतर’ के इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि समाज में समरसता बनाने का यह एक बहुत अच्छा उदाहरण है. इस अवसर पर ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ के राष्ट्रीय संयोजक तरुण चुघ ने ‘कुड़ियाँ दी लोहड़ी’ मनाने के प्रयास की प्रशंसा की. उन्होंने भारत के पौराणिक इतिहास में स्त्री के गौरव और महिमा का उदाहरण देते हुए उसे आज के संदर्भ और वातावरण से जोड़ने और प्रेरणा लेने की बात कही.
2014 में स्थापित ‘बेहतर’ संस्था की श्रीमती ममता नागपाल ने बताया कि ‘बेहतर’ हर साल बेटियों के पैदा होने पर ‘कुड़ियां दी लोहड़ी’ का आयोजन कर रही है. इसका मकसद समाज में यह सन्देश देना है, कि बेटियां आज किसी भी मायने में बेटों से कम नहीं हैं. गौरतलब है, कि 2018 में भी संस्था द्वारा 251 बेटियों के जन्म की खुशी में ‘कुड़ियां दी लोहड़ी’ का आयोजन किया गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here