Home State News अस्पताल का लाइसेंस रद्द करने पर केजरीवाल से सवाल पूछना मनोज तिवारी...

अस्पताल का लाइसेंस रद्द करने पर केजरीवाल से सवाल पूछना मनोज तिवारी को पड़ा भारी, सोशल मीडिया पर ट्रॉल्स ने ली जमकर खबर

106
0
SHARE
संवाददाता.
नई दिल्ली. 13 दिसंबर. देश की सियासत में सरकार पर आलोचना करने पर सोशल मीडिया पर ट्रॉलिंग का शिकार आजकल हर कोई हो रहा है. पहले भाजपा की आलोचना करने पर ट्रॉल्स जमकर वार करते थे, लेकिन अब खुद भाजपा नेता भी इस ट्रॉलिंग के शिकार बन रहे हैं.
कमेंट्स का स्क्रीन शॉट
इस बार मैक्स अस्पताल का लाइसेंस रद्द होने पर केजरीवाल से सवाल पूछने पर दिल्ली भाजपाध्यक्ष मनोज तिवारी ट्रॉल्स के शिकार हो गए. गौरतलब है कि शालीमार बाग स्थित मैक्स हॉस्पिटल में एक जिंदा नवजात शिशु को मृत घोषित करने के बाद कार्रवाई करते हुए दिल्ली सरकार ने अस्पताल का लाइसेंस रद्द कर दिया था. यह भी पढ़ें : इस्लामिक टोपी पहनने पर सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए डॉ. हर्षवर्धन, यूजर्स बोले मोदी जी से सीखिए  अस्पताल बैन होने के बाद मुख्य विपक्षी दल भाजपना ने केजरीवाल सरकार पर जमकर हमला बोला, जिसको लेकर मनोज तिवारी ने केजरीवाल सरकार से सवाल पूछा कि जो सैकड़ों गरीब कर्मचारी बेरोजगार हो गए हैं, उनके लिए दिल्ली सरकार ने क्या विकल्प सोचा है? साथ ही सैकड़ों गंभीर मरीजों के इलाज के विकल्प और सरकारी अस्पतालों को दुरुस्त करने पर भी सवाल दागा था.
इन्हीं सब सवालों पर सोशल मीडिया पर यूजर्स ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए मनोज तिवारी को मैक्स अस्पताल का एजेंट बताया. तो किसी ने उन्हें राजनीति से बाहर निकलने की नसीहत दे डाली. इसके अलावा कई यूजर्स ने उनके इन्हीं सवालों को अन्य राज्यों में लागू करने की बात कही. हालांकि किसी भाजपा नेता को सोशल मीडिया पर ट्रोल करने की यह पहली घटना नहीं है, अभी हाल ही में केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को भी सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग का शिकार होना पड़ा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here