Home States बाढ़ की बर्बादी के बाद गैर सरकारी संगठन सिद्धि ने केरल में...

बाढ़ की बर्बादी के बाद गैर सरकारी संगठन सिद्धि ने केरल में हरित क्रिसमस का आयोजन किया

156
0
SHARE
संवाददाता.
नई दिल्ली. 26 दिसंबर. गैर सरकारी संगठन सिद्धि ने केरल के कोच्चि और कोझीकोड में ग्रीन क्रिसमस सेलिब्रेट किया. सिद्धि ने केरल में दयासाधना स्पेशल स्कूल और आशियाना स्पेशल स्कूल के बच्चों के साथ क्रिसमस मनाया. इस प्रदेश का चुनाव करने का मकसद इस साल बाढ़ से बर्बादी के बाद यहां के लोगों के बीच खुशियां बांटना था. गौरतलब है, कि सिद्धि की संस्थापक डॉ. मीना महाजन आध्यात्मिक जीवन की एक चिर-परिचित शख्सियत हैं, जो दुनिया भर के युवाओं को उनके अंदर की शक्ति का अहसास कराने के लिए काम कर रही हैं, ताकि वे एक सशक्त लीडर बन सकें.
इस अवसर पर डॉ. मीना ने कहा कि हम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पर्यावरण जागरूकता फैलाने के मिशन पर हैं, इसलिए हम लोगों ने विशेष बच्चों के साथ मिलकर पौधे लगाए हैं. उन्होंने कहा कि मन, मस्तिष्क और आत्मा को शुद्ध करने का सबसे अच्छा तरीका है निस्वार्थ सेवा करना. डॉ. मीना ने कहा कि आध्यात्मिक गैर सरकारी संगठन सिद्धि ऐसा संगठन है, जो पिछले कई वर्षों से पर्यावरण संरक्षण और उसे दुरुस्त करने के लिए काम कर रहा है.  यह भी पढ़ें : पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और स्वामी चिदानन्द सरस्वती सहित प्रमुख हस्तियों को राष्ट्रीय श्रेष्ठता अवार्ड संगठन भारत और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न उद्देश्यों और परियोजनाओं के लिए काम कर रहा है. सिद्धि की परियोजनाओं में पर्यावरण की देखभाल, सबके लिए शिक्षा, महिला उद्यमिता, पिछड़ा वर्ग और विशेष या दिव्यांग बच्चे शामिल हैं.
इस मौके पर संगठन के पदाधिकारियों ने लैपटॉप, सिलाई मशीनें, प्रिंटर, टेबल कंप्यूटरआदि भी वितरित किये. कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर पर स्थानीय पंचायत अध्यक्ष, रॉटरी क्लब रॉयल त्रिवेन्द्रम के सचिव डॉ. जे मोजेज, फादर जोसेफ और कई वरिष्ठ अधिवक्ता शामिल रहे. आयोजन में मौजूद अतिथिगणों ने कहा कि वे इस आयु में स्वयंसेवकों का समर्पण और उत्साह देखकर बेहद खुश हैं, जो सही अर्थों में जीवन के सच्चे उद्देश्यों से कनेक्ट करते हैं और निस्वार्थ सेवा की महत्ता समझते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here