Home States एक दिवसीय एंटी डोपिंग कार्यशाला का आयोजन, प्रतिबंधित दवाइयों से बचें खिलाड़ी 

एक दिवसीय एंटी डोपिंग कार्यशाला का आयोजन, प्रतिबंधित दवाइयों से बचें खिलाड़ी 

107
0
SHARE
संवाददाता.
सोलन. 25 जुलाई. चिन्मय स्कूल नौनी में नेशनल डोपिंग एजेंसी के तत्वावधान ने फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन आॅफ इंडिया ने रोप  फेडरेशन आॅफ इंडिया के सहयोग से एक दिवसीय एंटी डोपिंग कार्यशाला का आयोजन किया. इस कार्यशाला में नेशनल डोपिंग एजेंसी के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. विवेक मेधी मुख्य अतिथि वक्ता के तौर पर मौजूद थे. डॉ. विवेक मेधी, चिन्मय स्कूल के निदेशक डॉ.रवि दत्त गौड़, फिजिकल फाउंडेशन आॅफ इंडिया के सचिव डॉ. पीयूष जैन, रोप स्किपिंग फेडरेशन आॅफ इंडिया के अध्यक्ष शैलेश शुक्ला, राष्ट्रीय महासचिव निर्देश शर्मा, मीडिया प्रभारी अशोक कुमार निर्भय ने कार्यशाला का उद्घाटन दीप प्रज्जवलित कर किया. इस अवसर पर देश भर के विभिन्न राज्यों से आये रोप स्किपिंग प्रशिक्षकों, हिमाचल प्रदेश के विभिन्न जिलों से भाग लेने आये शारीरिक शिक्षकों की मौजूदगी के बीच अपने संबोधन में नाडा के क्षेत्रीय निदेशक डॉ.विवेक मेधी ने खेल और खिलाड़ियों में प्रतिबंधित दवाइयों और भोजन के प्रति जागरूकता बढ़ाने पर बल देते हुए कहा कि जाने-अनजाने में हम कुछ भोज्य पदार्थ या दवाइयों का सेवन करते रहते हैं, जिनका दूरगामी परिणाम बड़ा ही भयवाह होता है. यह भी पढ़ें : बालाजी निरोगधाम में प्रार्थना कार्यक्रम आयोजित जब लिवर, किडनी, हड्डियों से संबंधित समस्याओं से व्यक्ति ग्रसित हो जाता है, तो  वह ना समाज और ना ही देश के लिए कुछ करने लायक रहता है. उन्होंने कहा कि डोपिंग का सेवन करने से खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर भी बहुत असर पड़ता है. उन्होंने उपस्थित सभी प्रतिभागियों  को शपथ दिलायी कि वह कभी प्रतिबंधित दवाइयों का सेवन नहीं करेंगे. कार्यशाला और रोप स्किपिंग फडरेशन आॅफ इंडिया  के जजिंग पाठ्यक्रम के समापन समारोह में पुरस्कार वितरण समारोह के मुख्य अतिथि शूलिनी विश्विद्यालय सोलन के उप-कुलपति प्रोफेसर डॉ. पी.के खोसला थे. पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित करते हुए डॉ. पी.के. खोसला ने अपने जीवन के अनुभव साझा करते हुए निरन्तर समय के साथ बदलने का मूल मन्त्र दिया. इस मौके पर देश भर से आये प्रशिक्षकों से डॉ. रविदत्त गौड़ ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में कहा कि मेरा सौभाग्य है कि मैं अपने स्टाफ के सहयोग से यह राष्ट्रीय स्तर का स्पीड और फ्री स्टाईल जजिंग कोर्स एवं एंटी डोपिंग कार्यशाला करने में सफल हुआ. उन्होंने कहा कि हिमाचल के बच्चों और खिलाड़ियों को हम रोप स्किपिंग खेल को सिखाकर आने वाले समय में राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हिमाचल के लिए वह पदक जीतने वाले खिलाड़ी तैयार करने का प्रयास करेंगे. इस मौके पर सभी प्रतिभागियों को जजिंग कोर्स के सर्टिफिकेट और नाडा कार्यशाला के सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here