Home State News स्वामी विवेकानंद के सपनों का भारत बनाने के लिए हमें विवेकानंद बनना...

स्वामी विवेकानंद के सपनों का भारत बनाने के लिए हमें विवेकानंद बनना होगा

198
0
SHARE
संवाददाता.
नई दिल्ली. 13 जनवरी. महाराजा अग्रसेन इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट स्टडीज में स्वामी विवेकानंद की 155वीं जयंती पर भव्य समारोह का आयोजन किया गया. विदित हो कि हर साल यह दिन राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस अवसर पर सभागार में बड़ी संख्या में उपस्थित छात्रों ने स्वामी जी के 1883 में शिकागो के विश्व धर्म सम्मलेन में दिए गए भाषण को सुना, जिसका पाठ स्वामी जी के वेश में एक छात्र साहिल ने किया.

इस अवसर पर समारोह में विशिष्ट अतिथि के तौर पर दक्षिण दिल्ली नगर निगम की अध्यक्ष सुश्री शिखा राय और रोहिणी के एसडीएम नागेन्द्र एस. पी. त्रिपाठी उपस्थित थे. इस अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित सुश्री राय ने स्वामी जी के माध्यम से राष्ट्र प्रेम का सन्देश दिया.
कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के तौर पर संबोधित करते हुए संस्थान के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. नंद किशोर गर्ग ने अपने ओजस्वी संबोधन में कहा कि अभारतीय होती जा रही पीढ़ी को भारतीयता की ओर लाने के लिए स्वामीजी के पथ पर चलना होगा.  यह भी पढ़ें : राष्ट्रीय युवा दिव्यांग महोत्सव में दिव्यांगों के लिए रोजगार व स्वरोजगार के अवसरों की मांग उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद के सपनों का भारत तभी बनेगा, जब हम खुद विवेकानंद बनेंगे. इसके लिए हमारी युवा पीढ़ी को दृढ़ संकल्पी बनना होगा. इस अवसर पर संस्थान के अध्यक्ष प्रेम सागर गोयल ने कहा कि स्वामी विवेकनद मात्र एक व्यक्ति नहीं, विचार थे. और विचार हमेशा दिशा प्रदान करते हैं. कार्यक्रम में मौजूद अतिथियों का स्वागत करते हुए संस्थान के निदेशक प्रो. एम. के. भट्ट ने सभी उपस्थित लोगों को बधाई दी.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here