Home State News वॉलमार्ट डील के खिलाफ 2 जुलाई को देशव्यापी विरोध-प्रदर्शन करेंगे व्यापारी

वॉलमार्ट डील के खिलाफ 2 जुलाई को देशव्यापी विरोध-प्रदर्शन करेंगे व्यापारी

92
0
SHARE
सांकेतिक चित्र
संवाददाता.
नई दिल्ली. 28 जून. वॉलमार्ट फ्लिपकार्ट के बीच हुए समझौते के विरोध हेतु व्यापारिक संगठन कैट के बैनर तले आगामी 2 जुलाई को व्यापारी देशव्यापी विरोध-प्रदर्शन करेंगे. कैट की माँग है, कि सरकार वॉलमार्ट डील को रद्द करे, ई-कॉमर्स के लिए नीति बनाए और एक रेग्युलेटरी अथॉरिटी का गठन करे.
कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी.भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि जब तक ई-कॉमर्स पॉलिसी न बन जाए तब तक एफडीआई पॉलिसी के प्रेस नोट नंबर 3 का कड़ाई से पालन होना चाहिए. कैट ने मांग की है, कि ई-कॉमर्स पॉलिसी बनाने में व्यापारियों को भी विश्वास में लिया जाए. यह भी पढ़ें : टाउन वैंडिंग कमेटी के चुनाव पर रोक लगवाने की मांग को लेकर गृहमंत्री राजनाथ से मिले सांसद उदितराज दोनों व्यापारी नेताओं ने कहा कि ई-कॉमर्स कंपनियां खुले रूप से और धड्डले से 29 मार्च 2016 को जारी सरकार के प्रेस नोट नंबर 3 का उल्लंघन कर रही हैं, जिसमें ई-कॉमर्स कंपनियों पर पाबंदी लगाई गई है, कि कंपनियां किसी भी प्रकार से कीमतों को प्रभावित नहीं करेंगी एवं बाजार में प्रतिस्पर्धा बनाये रखेंगी. व्यापारी प्रतिनिधियों ने कहा कि अनेक शिकायतें करने के बावजूद भी ये कंपनियां भारत को खुला मैदान मानते हुए अपने बनाये हुए नियम एवं कायदों से व्यापार कर रही हैं और सरकार मूकदर्शक बनी हुई है.
कैट ने अफसोस जाहिर करते हुए कहा कि बीते चार वर्षों में वाणिज्य मंत्रालय ने घरेलू व्यापार को मजबूत करने के लिए हेतु एक भी मीटिंग नहीं बुलाई, जबकि बेहद तत्परता दिखाते हुए ई-कॉमर्स एवं रिटेल में एफडीआई पर कदम उठाने में कोई कोताही नहीं बरती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here