Home Uncategorized मनगढंत आरोपों पर कुर्सी क्यूं छोड़ें मेयर.?

मनगढंत आरोपों पर कुर्सी क्यूं छोड़ें मेयर.?

346
0
SHARE
सांकेतिक चित्र
उत्तरी दिल्ली नगर निगम की मेयर प्रीति अग्रवाल पर आम आदमी पार्टी द्वारा लगाये गये भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद लोगों के जेहन में एक बार फिर एमसीडी की छवि करप्ट सिविक एजेंसी के तौर पर उभरी है. दिल्ली सरकार के वरिष्ठ मंत्री सत्येंद्र जैन पर लगे आरोपों से तिलमिलाई आम आदमी पार्टी जहां इस मामले को भुनाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रही, वहीं भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाने की बात कहने वाली भाजपा इसे महज आम आदमी पार्टी के खुद पर लगे आरोपों से ध्यान भटकाने की बात कहकर खारिज कर रही है. वैसे निगम में भ्रष्टाचार का मुद्दा सदाबहार रहा है. और निगम में नेताओं और प्रशासन पर समय-समय पर भ्रष्टाचार के आरोप लगते रहे हैं. इस बार चूंकि मामला सीधे मेयर से जुड़ा है तो भ्रष्टाचार के विरूद्व बात करने वाले भाजपा के नेता और कार्यकर्त्ता क्या राय रखते हैं? हमने इस मुद्दे पर स्थानीय भाजपा नेताओं और कार्यकर्त्ताओं से बात की. आप भी जानिए इस मुद्दे पर क्या कहते हैं भाजपा नेता और कार्यकर्त्ता..

सोची समझी राजनीति के तहत आरोप
आदेश गुप्ता
उत्तरी दिल्ली नगर निगम के वार्ड नंबर 98 मानसरोवर गार्डन से निगम पार्षद आदेश कुमार गुप्ता आरोपों को सोची-समझी राजनीति बताते हैं. वह कहते हैं, कि ‘आप’ द्वारा लगाए गए आरोप निराधार हैं, इनमें कोई सत्यता नहीं है. आदेश कहते हैं, कि टेंडर जारी करना प्रशासन का काम है. अगर भ्रष्टाचार हुआ होता तो विपक्ष अभी तक सबूत क्यों नहीं पेश कर पाया और शिकायतकर्ता वकील के पास भी कोई सबूत नहीं हैं.
खुद को बचाने के लिए ‘आप’ लगा रही झूठे आरोप
विपिन कुमार गोयल
भाजपा नेता विपिन गोयल कहते हैं, कि इस मुद्दे में कुछ भी कहने लायक है ही नहीं. क्योंकि आम आदमी पार्टी खुद को बचाने के लिए भाजपा के मेयर पर झूठे आरोप लगा रही है.
शिकायतकर्ता वकील ‘आप’ पार्टी का कार्यकर्ता
प्रदीप अग्रवाल
स्थानीय भाजपा नेता प्रदीप अग्रवाल कहते हैं, कि इस झूठे मामले में वकील कैलाश मृदुल ‘आप’ पार्टी के कार्यकर्ता हैं, जो पार्टी के कहने पर बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं. प्रदीप अग्रवाल के मुताबिक सत्येंद्र जैन पर लगे आरोपों को दबाने के लिए आम आदमी पार्टी राजनीति कर रही है.
टेंडर जारी करना प्रशासन का काम
विपिन मल्होत्रा
उत्तरी दिल्ली नगर निगम के वार्ड नंबर 100 कर्मपुरा से निगम पार्षद विपिन मल्होत्रा तमाम आरोपों को झूठा बताते हुए कहते हैं, कि आज निगम में सभी कार्य आॅनलाइन होते हैं, जिसमें टेंडर जारी करना भी शामिल है. और प्रशासन की जिम्मेदारी होती है टेंडर जारी करना तथा कर्मचारियों का तबादला करना. ऐसे में करप्शन के आरोपों से घिरी दिल्ली सरकार बिना वजह निराधार आरोप लगाकर खुद को बचाने की कोशिश कर रही है.
मेयर पर लगे आरोप झूठे
राजा इकबाल सिंह
एनडीएमसी के वार्ड नंबर 14 आदर्श नगर से निगम पार्षद राजा इकबाल सिंह मेयर प्रीति अग्रवाल को पूरी तरह पाक साफ और ईमानदार बताते हुए कहते हैं, कि विपक्ष द्वारा लगाए जा रहे इन झूठे आरोपों पर किसी को कोई विश्वास नहीं है.
मेयर का काम सुझाव देना
जयप्रकाश जे.पी.
वार्ड नंबर 80 सदर बाजार से निगम पार्षद जयप्रकाश जे.पी. कहते हैं, कि मेयर केवल योजनाएं बना सकती हैं और निगम की नीतियों को आगे बढ़ा सकती हैं. टेंडर जारी करना और कर्मचारियों के तबादले सरीखे काम उनके हाथ में ही नहीं हैं. ऐसे में आम आदमी पार्टी द्वारा लगाये गये ये आरोप बिल्कुल बेबुनियाद हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here